याद आती हैं हमे

जुल्फ से हल्की-सी बारिश याद आती हैं हमें, भूल जाने की सिफारीश याद आती है हमें, चाहकर भी जो मुकम्मिल हम कभी ना कर सकें, बीते लम्हों की गुजारिश याद आती हैं हमे * * * आज भी कोई सदा है, जो बुलाती हैं हमें गीत में या फिर गजल में गुनगुनाती हैं हमें वक्त […]

read more

आजकल

[Painting by Amita Bhakta] वक्त भी चलते हुए गभरा रहा है आजकल, कौन उसके पैर को फिसला रहा है आजकल ? रास्ते आसान है पर मंझिले मिलती नहीं, हर कोई पत्थर से क्यूँ टकरा रहा है आजकल ? न्याय का दामन पकडकर चल रही है छूरीयाँ, सत्य अपने आपमें धुँधला रहा है आजकल पतझडों ने […]

read more
United Kingdom gambling site click here